क्यों पीपल का पेड़ स्वास्थ्य के लिए महत्वपूर्ण है ?

Spread the love

पीपल का पेड़ स्वास्थ्य के लिए Pipal Tree health benefits in hindi 

क्यों-पीपल-का-पेड़-स्वास्थ्य-के-लिय-महत्वपूर्ण है ?

पीपल का पेड़ Pipal Tree in hindi  :-

दोस्तों ये तो हम सब जानते है की वृक्षों मे पीपल का स्थान सबसे ऊँचा है। अनंतकाल से ही हिंदुओं द्वारा इस वृक्ष की पूजा की जाती हैपीपल के द्वारा ही वायुमंडल में ऑक्सीजनका उत्सर्जन सबसे ज्यादा होता है। जिससे हम सब साँस लेते है और जीवित रहते है। लोगो का मानना है की इस वृक्ष में देवताओ का वास होता है, लेकिन अध्यात्मिक मान्यताओ के अलावे इसकी सबसे बड़ी विशेषता यह है की इस वृक्ष के जड़ से लेकर पतों तक में असहाय मानी जाने वाली रोगों से लड़ने की क्षमता बहुत अधिक होती है। इसका रस देखने में बिलकुल दूध के जैसा होता है जो ह्रदय रोगों में बहुत फायदेमंद होता हैआयुर्वेद में पीपल के औषधीय गुणों काबहुत अधिकमहत्व बताया गया है। इसकी पत्तियोंबीजछालजड़ेतनेटहनियों में औषधीय गुणों का भंडार पाया जाता है।इसके उपयोग से नपुंसकताअस्थमागुर्देकब्जअतिसार तथा विभिन्न प्रकार के रक्त विकारों का उपचार किया जा सकता है।

पीपल के पेड़ के घरेलू नुस्खे pipal tree ke ghrelu nuskhe in hindi:-

दोस्तों बहुत से लोगो में साँस फूलने या दमा नाम की बीमारी होती है दमे की बीमारी का दौरा पड़ने पर पीपल की छाल को सुखाकर चूर्ण बना ले और इसकी थोड़ी सी मात्रा में लेकर गुनगुने पानी के साथ प्रतिदिन 3-4 बार सेवन करने से बहुत राहत मिलती है, साथ ही धीरे-धीरे यह रोग ख़त्म भी होने लगता है

  1. बहुत से लोगो में कब्जियत की शिकायत हो जाती है, ऐसे में पीपल के पतों को छाया में सुखाकर उसका चूर्ण बना ले और उसे गुड में मिलाकर उसकी गोलिया बना ले रात को सोते समय दो-दो गोली दूध या गुनगुने पानी के साथ सेवन करने से जल्द लाभ मिलता है
  2. जिन्हें आँखों से पानी आने की शिकायत हो तो पीपल की चार-पांच कोपले लेकर एक कप पानी में रात में भिंगोकर सुबह-सुबह उसी पानी से आँखों को धोने से कुछ ही दिनों में ये परेशानी भी ठीक होने लगती है
  3. आँखों में अगर जलन हो, आंखे लाल हो जाती हो तो आँखों में प्रतिदिन पीपल के कोपलो के रस में शुद्ध शहद मिलाकर लगाने से यह समस्या भी ठीक हो जाती है। 
  4. अगर आपको दाद-खाज खुजली हो गई हो तो 50 ग्राम पीपल की छाल की राख बनाकर, इसमें नींबू तथा घी मिलाकर इसका पेस्ट बना लें, फिर इस पेस्ट को दाद-खाज से प्रभावित अंगों पर लगाए।इससे आपको तुरंत आराम मिलेगा। 
  5. अगर दांतों में दर्द की समस्या हो तो पीपल के छोटे-छोटे पतों को कालीमिर्च के साथ पीसकर बिलकुल छोटी मटर के दाने के बराबर गोलिया बनाकर दांतों में दबाकर रखने से दांतों का दर्द भी ठीक हो जाता है। 
  6. यदि आपको  भूख कम लगना, खांसीपित्तरक्त संबंधी विकार की शिकायत रहती हो तो पीपल के पके हुए फलों का प्रयोग करें जिससे स्थायी रूप से इन विकारों का उपचार किया जा सकता है।
  7. पीलिया रोग में पीपल और लसोड़े के कुछ पतों को मिलाकर एक साथ पीस ले, और सेंधा नमक के साथ मिलाकर पीने से यह  रोग भी दूर हो जाता है
  8. जिन स्त्रियों को गर्भाधान की समस्या होती है, जो माँ तो बनना चाहती है परन्तु बन नहीं पाती उन औरतों को चाहिए की पीपल के सूखे पतों को कूट-पीस और छान कर इसे पैक करके रख ले और प्रतिदिन इसे थोड़ीथोड़ी मात्र में गरम दूध के साथ इसका सेवन करे इसके सेवन से उन्हें गर्भाधान जरुर होता है, लेकिन यह ध्यान रखे की मासिक धर्म के समय इसका सेवन बिलकुल ना करे
  9. दोस्तों जिन्हें चर्मरोग की समस्या हो उन्हें चाहिए की पीपल की छाया में थोड़ी देर आराम या विश्राम जरुर करे जिससे यह समस्या भी दूर हो जाती है
  10.  लोगो में यह भी मानना है की जिन बच्चों को बार-बार नजर लग जाती हो उन्हें पीपल के पत्तो को जलाकर उसी धुएं से नजर उतारे तो ये सारी परेशानियाँ दूर हो जाती है
  11. जहरीले सांप के काटे जाने पर पीपल की कोमल पत्तियों के रस की दो-दो बूंदे लें तथा उसकी पत्तियों को चबाएं। उससे सांप के विष का असर कम होगा।

दोस्तों पीपल के वृक्ष का हमारे वातावरण को शुद्ध करने से लेकर तरह-तरह के फायदे है, औषधीय गुणों की खान और रोगनाशक इस वृक्ष का बहुत ही बड़ा महत्व है। अंततः आपसे यही कहना है की इस वृक्ष की रक्षा अवश्य करे

दोस्तों आप लोगो को मेरे द्वारा दी गई जकरी कैसी लगी, कृपया कॉमेंट जरूर करेंअगर जानकारी अच्छी लगे तो लाइक एवं सब्सक्राइब जरूर कीजिएगा, साथ ही साथ अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर करें

धन्यवाद

 

0 thoughts on “क्यों पीपल का पेड़ स्वास्थ्य के लिए महत्वपूर्ण है ?”

Leave a Comment